ads

प्रदेश में 15 और 16 को तेज आंधी और बारिश के आसार

प्रदेश में 15 और 16 को तेज आंधी और बारिश के आसार
मौसम विभाग की चेतावनी, दो दिन संभल कर निकलें
चल सकती है 40 से 50 किमी की रफ्तार से धूल भरी आंधी 
जयपुर. प्रदेश के पूर्वी और पश्चिमी इलाके में 15 और 16 अप्रैल को 40 से 50 किमी रफ्तार से धूल भरी आंधी चल सकती है। मौसम विभाग ने शुक्रवार को एक बार फिर अलर्ट जारी करते हुए इन इलाकों के कई जिलों में बिजली गिरने और हल्की बूंदाबांदी होने की संभावना जताई है। इससे पहले भी 10 से 12 अप्रैल तक इस प्रकार का अलर्ट जारी किया गया था। इसको लेकर आपदा प्रबंधन विभाग ने भी मुस्तैदी दिखाते हुए अलर्ट जारी किया था।

मौसम विभाग के अनुसार बाड़मेर, जैसलमेर, जोधपुर, चूरू, हनुमानगढ़, बीकानेर, नागौर, अजमेर, अलवर, सीकर, जयपुर, दौसा, भरतपुर और करौली में 15 और 16 अप्रैल को तेज हवाओं के साथ साथ कई स्थानों पर बिजली गिरने और बूंदाबांदी की स्थिति बन सकती है। मौसम विभाग के अनुसार अभी जैसलमेर से लेकर मध्यप्रदेश तक ऊपरी चक्रवात और कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। इस कारण धूल भरी आंधियां चलने के साथ साथ कुछ स्थानों पर हल्की बारिश हो सकती है। 

क्यों बन रही है बार बार अलर्ट जारी करने की स्थिति : मौसम विभाग के डायरेक्टर शिव गणेश का कहना है कि जैसलमेर से मध्यप्रदेश तक ऊपर ऊपरी चक्रवात और कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। इसके अलावा तेज गर्मी और धूप के कारण हवाएं गर्म होकर ऊपर उठ रही है। ऊपर उठ रही हवा का स्थान भरने के लिए आसपास की दूसरी हवा आ जाती है। इस सिलसिले के कारण हवाओं की गति बढ़ जाती है और यह धूल और मिट्टी को भी ले आती है। इससे अंधड़ की स्थिति बन जाती है।

इसके अलावा जब गर्म हवाएं ऊपर उठती है तो ऊपर नमी पाकर बादल बन जाती है। यह बादल भारी होकर नीचे की तरफ आते हैं। लेकिन जैसे जैसे नीचे आते हैं वातावरण गर्म होता जाता है। इस कारण यह बादल वापस वाष्पित हो जाते हैं। कुछ बचते हैं वे केवल बूंदाबांदी तक ही सीमित रहते हैं। इसलिए प्रदेश में अंधड़ और बूंदाबांदी की स्थिति ही बनने की संभावना है।

No comments