ads

झाड़ू भी करती है मालामाल, बस तरीका जान लें

झाड़ू भी करती है मालामाल, बस तरीका जान लें
: क्या आपको पता हैं कि घरों में प्रयोग होने वाली झाड़ू आर्थिक दृष्टि से कितनी ज़्यादा महत्वपूर्ण है इसी झाड़ू की वजह से व्यक्ति करोड़पति व कंगाल दोनों बन सकता है। शकुन और अपशगुन शास्त्रों में झाड़ू का इस्तेमाल और उसको प्रयोग करने का वक्त और उसके प्रयोग करने की विधि को बहुत ज़्यादा महत्व दिया गया है। और कुछ शास्त्रों में तो झाड़ू को लक्ष्मी और उनकी बहन अलक्ष्मी से जोड़ कर भी देखा जाता है।
झाड़ू का गलत प्रयोग जहां एक तरफ मुफलिसी को निमंत्रण देता है वहीं पर उसका सही से इस्तेमाल करना माँ लक्ष्मी के लिए घर के द्वार को खोल देता है।
झाड़ू का गलत वक्त पर किया गया प्रयोग घर में गरीबी व कंगाली लाता है दूसरी तरफ झाड़ू का सद्उपयोग एक आम से मनुष्य को भी करोड़पति बना देता है।
झाड़ू को हमेशा ही कृष्ण पक्ष में खरीदना अच्छा होता है। शुक्ल पक्ष में खरीदी हुई झाड़ू दुर्भाग्य का सूचक बनती है।
*झाड़ू को हमेशा कड़े वारों में ही खरीदना चाहिए। सौम्य वारों पर झाड़ू खरीदने पर धन की हानि होती है।
*झाड़ू कभी भी घर के उत्तर और पूर्व के बीच की दिशा में नहीं रखनी चाहिए वरना इससे देव आगमन में बाधाएं आ जाती हैं और दुर्भाग्य स्वयं चलकर आपके घर में प्रवेश कर लेता है।
*झाड़ू को रखने का सबसे अच्छा स्थान घर का दक्षिण पश्चिम कोना बताया जाता है।
*घर में झाड़ू लगाने का सबसे अच्छा टाइम दिन के पहले चार पहर बताए गए हैं। और रात के चार पहरों में झाड़ू लगाने से दरीद्रता आपके घर में अपने पैर पसार लेती है।
*इस बात का खास ध्यान रखे कि झाड़ू लगाते वक्त कभी भी अपने पांव से उसका स्पर्श नहीं करना चाहिए अन्यथा उन्हीं पांव से चलकर के अलक्ष्मी आपके घर में स्थान बना लेती हैं।
*और शाम को सांझ से पहले लगाने वाले झाड़ू की मिट्टी को कभी भूल कर भी घर से बाहर नहीं फेंकना चाहिए क्योंकि शास्त्रों ने मिटूटी को मातृका मिट्टी कहा है। और इसे घर से बाहर निकालने पर लक्ष्मी तो घर के बाहर चली जाती है और अलक्ष्मी आपके घर में दाखिल हो जाती है।

No comments