ad1

4

सोमवार की शाम को पढ़ लें इनमें से कोई भी एक मंत्र, बन जाएंगे सारे काम

सोमवार की शाम को पढ़ लें इनमें से कोई भी एक मंत्र, बन जाएंगे सारे काम
यूं तो भोलेनाथ सबकी मनोकामनाएं पूरी करते हैं, मगर सोमवार को किए गए कुछ खास उपायों से आपके बिगड़े हुए काम भी बन सकते हैं। तो कौन-से हैं वो उपाय जिनके जरिए शिव जी को प्रसन्न किया जा सकता है आइए जानते हैं।
1.अगर आप धन प्राप्त करना चाहते हैं तो आप ॐ नम: शिवाय मंत्र का 108 बार जाप करें। इस मंत्र को आप रुद्राक्ष की माला से ही जपे। मंत्र पढ़ने के समय शिव जी के सामने शुद्ध देसी घी का दीपक जलाएं।
2.अगर आपकी कोई मनोकामना पूरी नहीं हो रही है तो आप आज नागेंद्रहाराय त्रिलोचनाय भस्मांग रागाय महेश्वराय
नित्याय शुद्धाय दिगंबराय तस्मे न काराय नम: शिवाय: मंत्र का जाप करें। इससे जल्द ही आपकी इच्छा पूरी होगी।
3.सोमवार के दिन सिर्फ शिव जी का ही नहीं बल्कि माता पार्वती का ध्यान करने एवं उनके मंत्र का जाप करने से भी खुशहाली आती हे। इसके लिए ॐ ऐं ह्रीं शिव गौरीमय, ह्रीं ऐं ॐ मंत्र का जप करें।
4.अगर किसी की कुंडली में मृत्यु योग हो या दुर्घटनाग्रस्त होने का डर वो तो आज शिव जी के महामृत्युंजय मंत्र का जाप करें। ये एक प्रभावशाली मंत्र है। इसके जब से प्राणों की रक्षा होती है।
5.महिलाएं अपने पति की लंबी आयु एवं सौभाग्य के लिए भगवान शिव का दूध से अभिषेक करते हुए
ॐ ह्रीं नम: शिवाय ह्रीं ॐ मंत्र का जप करें।
6.धन प्राप्ति के लिए मां लक्ष्मी के ॐ श्रीं ऐं ॐ मंत्र का जप करें। ये मंत्र शाम के समय लक्ष्मी मां की मूर्ति व तस्वीर रखकर, दीपक जलाकर पढ़ें। मंत्र को कमल गट्टे व चंदन की माला से जपें।
7.यदि किसी व्यक्ति की शादी में देरी हो रही है व रुकावट आ रही हो तो शिव और पार्वती के इस मंत्र, हे गौरी शंकरार्धांगि यथा त्वं शंकरप्रिया, तथा मां कुरु कल्याणी कान्तकांता सुदुर्लभाम। ये मंत्र आपको 21 व 51 बार पढ़ना होगा।
9.परिवार की खुशहाली एवं शांति बनाएं रखने के लिए ॐ साम्ब सदा शिवाय नम: मंत्र का जप करें। ये बहुत प्रभावशाली मंत्र है। इसे नियमित तौर पर पढ़ने से परिवार पर कभी संकट नहीं आता है। परिवार के सदस्यों के बीच बेहतर तालमेल रहता हैं।
10.मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए भगवान शिव के अलावा श्रीकृष्ण के मंत्र भी बहुत प्रभावशाली हैं। इन्हीं में से एक है, श्रीकृष्ण:शरणं मम्। इस मंत्र के जप से व्यक्ति पर कभी कोई मुसीबत नहीं आती है। ऐसे लोगों की शत्रुओं से भी रक्षा होती है।

No comments