ad1

4

चाहे कुछ भी हो जाए घर में इन 4 देवताओं को कभी मत पूजना वरना होगा अनर्थ

चाहे कुछ भी हो जाए घर में इन 4 देवताओं को कभी मत पूजना वरना होगा अनर्थ

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में मंदिर होना काफी आवश्यक है। और हर दिन मंदिर में सुबह शाम दीया जलाकर पूजा-अर्चना होनी चाहिए। ऐसा करने से आपके घर में सुख शांति का वास होता है और किसी भी काम में किसी तरह की कोई बाधा नहीं आती है।

लेकिन क्या आप यह बात जानते हैं कि वास्तु के अनुसार कुछ ऐसे भगवान भी हैं। जिनकी तस्वीर या प्रतिमा अपने घर में रखने से आपके घर में सुख शांति आने की बजाएं दुख और दरिद्रता घर में आ जाती है।

चलिए आज हम आपको बताते हैं कि अपने घर के मंदिर में आपको किन देवी देवताओं की मूर्तियां नहीं रखनी चाहिए।

नंबर 1

राहु और केतु की मूर्ति को कभी भूल से भी घर में नहीं रखना चाहिए। क्योंकि जिनकी कुंडली में इनकी छाया पड़ जाती है उनके जीवन में दुखों मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ता है। इसीलिए इनकी पूजा भी बाहर के मंदिर में ही करनी चाहिए।

नंबर 2

शनिदेव की पूजा भी घर के मंदिर में नहीं करनी चाहिए। क्योंकि शनि देव की मूर्ति को घर में रखने से इनकी पूजा में विधन उत्पन्न होता है। और विधन उत्पन्न होने से इन का प्रकोप आपके ऊपर बुरी तरह से पढ़ता है। इसीलिए शनि देव की मूर्ति को घर के मंदिर में कभी नहीं रखना चाहिए।

नंबर 3

काल भैरव भगवान शिव का ही अवतार है वास्तु के अनुसार ऐसा कहा जाता है। कि भैरव भगवान की मूर्तियां या तस्वीर को घर में रख कर इनकी पूजा-अर्चना नहीं करनी चाहिए। क्योंकि काल भैरव तंत्र विद्या के स्वामी हैं यह शास्त्र के देवता है। इसीलिए इन्हें हमेशा बाहर के मंदिर में ही रख कर पूजा करनी चाहिए।

अब बात करते हैं नंबर 4 की

नटराज भगवान शिव का रूद्र रूप है। इसीलिए इनके इस रूप की पूजा भी बाहर के मंदिर में ही करनी चाहिए। वरना आपके ऊपर भी इनकी रूद्र दृष्टि के प्रकोप से प्रकोप हो जाती है। इसीलिए सावधान रहें और इन चार भगवान की पूजा घर के मंदिर में कभी नहीं करनी चाहिए।

No comments